जैतून के तेल और एलोवेरा से पाएं पाइल्स की समस्या में आराम, ये फल भी हैं कारगर

जैतून का तेल - India TV Hindi
Image Source : PEXELS
जैतून के तेल और एलोवेरा से पाएं पाइल्स की समस्या में आराम, ये फल भी हैं कारगर

अक्सर लोगों में पाइल्स की बीमारी देखी गई है। पाइल्स एक अनुवांशिक समस्या भी होती है, अगर फैमिली में किसी को ये समस्या है तो ये आशंका हो सकती है कि अगली पीढ़ी में भी ये समस्या हो। ये बीमारी ज्यादातर उम्रदराज लोगों में देखी गई है, लेकिन यंग लोग भी अब इस समस्या से पीड़ित होते नजर आ रहे हैं। यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें इन्सान को बहुत तकलीफ होती है, इसमें गुदा के अंदर और बाहर सूजन आ जाती है, और गुदा के अंदर या बाहर मस्से बन जाते हैं, ये मस्से कई बार अंदर होते हैं तो कई बार बाहर आ जाते हैं. ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि घर में मौजूद किन चीजों का इस्तेमाल कर पाइल्स की समस्या को दूर किया जा सकता है।

कैसे करें पाइल्स का घरेलू इलाज

जैतून के तेल 

जैतून के तेल में भी सूजन ठीक करने के गुण होते हैं, जैतून के तेल को बादी बवासीर के मस्सों पर लगाएं सूजन में राहत होगी और दर्द भी कम होगा।

एलोवेरा
एलोवेरा में सूजनरोधक गुण होते हैं, यह आंतरिक और बाहरी दोनों पाइल्स के इलाज में लाभदायक है। गुदा के बाहर मौजूद मस्सों में एलोवेरा जेल लगाएं, इससे खुजली दूर होती है, एलोवेरा का सेवन करें, इससे कब्ज नहीं होगा और मल त्याग करने में आसानी होगी।

जामुन
पाइल्स या बवासीर होने पर जामुन के कोमल कोपलों को पीस लें और इस रस में थोड़ी से चीनी मिला लें, दिन में तीन बार इसका सेवन करने से पाइल्स में बहने वाला खून बंद हो जाता है। 10 ग्राम जामुन के पत्तों को 250 मिली गाय के दूध में घोंट लें, इसे 7 दिन तक सुबह,दोपहर और शाम को पीने से भी खून रुक जाता है। 20 मिली रस में, थोड़ी-सी शक्कर मिला लें। इसे दिन में तीन बार पीने से बवासीर से बहने वाला खून बन्द हो जाता है।

बादाम का तेल 
शुद्ध बादाम के तेल में रुई को डुबाकर बादी पाइल्स के मस्सों पर लगाएं इससे सूजन और जलन कम होती है।

सेब का सिरका
खूनी बवासीर में एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब के सिरके को डालकर पिएं, वहीं अगर बादी बवासीर है तो सेब के सिरके को रुई में लगाकर सीधा गुदा में लगाएं, इससे खुजली में राहत मिलती है।

अंजीर 
तीन अंजीर एक गिलास पानी में भिगों दें, सुबह खाली पेट भीगे हुए अंजीर खाएं और पानी भी पी जाएं, इससे काफी राहत मिलेगी।

नारियल 
नारियल की जटाओं को जलाकर इस राख को ताजे मट्ठे में मिलाकर सुबह खाली पेट नियमित रूप से पिएं तो बवासीर में काफी फायदा होता है।

Disclaimer:यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *